निगम का विवाद अब धरने तक,महापौर बैठेगी अनिश्चिकालीन धरने पर

बीकानेर राजनीति राजस्थान

दैनिक खबरां,बीकानेर।  नगर निगम आयुक्त के खिलाफ आज से महापौर सुशीला कंवर धरने पर बैठ रही है। मिली जानकारी के अनुसार इस धरने में भाजपा और महापौर के साथी पार्षद भी शामिल होंगे। महापौर ने आरोप लगाते हुए बताया कि नगर निगम आयुक्त गोपाल राम बिरड़ा राजनैतिक संरक्षण में लगातार नियमों और कानून के खिलाफ कार्य कर नगर निगम और जनता को परेशान कर रहे हैं।

 

महापौर ने आरोप लगाया है कि कोर्ट स्टे के बावजूद तुलसी गौशाला तोडऩा हो, बरसात के समय नाला सफाई के स्थान पर अतिक्रमण तोडऩा हो, पट्टों के नाम पर जनता से नियमों के नाम पर अनावश्यक पैसे लेना हो, पट्टों के नाम पर रिश्वतखोरी, पट्टों के झूठे आंकड़े भेजना, संविधान और नगर पालिका अधिनियम के खिलाफ बोर्ड बैठक बुलाना ,केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल की साधारण सभा में स्वीकृति ना लेना और उनकी अवमानना करना ऐसे कई मामले हैं।

 

 

जिन पर महापौर द्वारा जिला कलेक्टर,संभागीय आयुक्त, डीएलबी डायरेक्टर,शासन सचिव,मुख्य सचिव तथा मंत्री शांति धारीवाल को पत्र लिखकर और मिलकर प्रमाण और सबूत देकर इस अधिकारी को हटाने के लिए निवेदन किया जा चुका है ताकि शहर में फेल रही अव्यवस्थाओं को रोका जा सके।

 

आज 2 महीने से अधिक समय बीत जाने पर भी दोषी अधिकारी पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। अधिकारी को हटाने के लिए आज सुबह 11 बजे से मेयर सुशीला कंवर राजपुरोहित उपमहापौर राजेंद्र पंवार तथा अपने साथी पार्षदों के साथ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठेगी।