ठेहट हत्याकांड, सीकर बंद की तैयारी:राजू और किसान ताराचंद के शव लेने से इनकार; कनाडा में हुई मर्डर की प्लानिंग

बीकानेर

ठेहट हत्याकांड, सीकर बंद की तैयारी:राजू और किसान ताराचंद के शव लेने से इनकार; कनाडा में हुई मर्डर की प्लानिंग

दैनिक खबरां नेटवर्क। कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट को बदमाशों ने शनिवार को उसी के घर के सामने ताबड़तोड़ फायरिंग कर मौत के घाट उतार दिया। इस घटना के बाद शेखावाटी के जिलों में तनाव का माहौल है। विशेषकर सीकर में ठेहट के समाज के लोग सीकर बंद करने की तैयारी में है।

वहीं, घटना के करीब 22 घंटे बीतने के बाद बाद भी राजू ठेहट और गैंगवार में मारे गए बेकसूर किसान की बॉडी अब तक हॉस्पिटल में है।

समाज के नेताओं ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी है कि जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती तब तक शव नहीं लिए जाएंगे। इससे पहले शनिवार रात भर बड़ी संख्या में समाज के लोग एसके हॉस्पिटल के बाहर धरने पर बैठे रहे।

जानकारी के अनुसार आज समाज के प्रतिनिधि कोचिंग संस्थान और स्कूल संचालकों के साथ मीटिंग करेंगे। इसमें यह निर्णय होगा कि अपराधियों जब तक गिरफ्तार नहीं हो जाते। तब तक स्कूल और कोचिंग पूरी तरह से बंद रहेंगे। वहीं दूसरी तरफ पुलिस लगातार बदमाशों की तलाश कर रही है।

लेकिन अभी तक बदमाश पुलिस की पकड़ में नहीं आए। इस हत्याकांड की जिम्मेदारी लेने वाले गैंगस्टर रोहित गोदारा की दो पोस्ट को लेकर भी काफी चर्चा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार गोदारा फिलहाल कनाडा में है और पूरी प्लानिंग वहीं की गई थी।

ठेहट हत्याकांड, सीकर बंद की तैयारी:राजू और किसान ताराचंद के शव लेने से इनकार; कनाडा में हुई मर्डर की प्लानिंग नागौर के दोतीणा के रहने वाले ताराचंद कड़वासरा एक कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ने वाली बच्ची से मिलने आए थे। ठेहट को मारकर भाग रहे आरोपियों ने उन्हें भी गोली मार दी।
नागौर के दोतीणा के रहने वाले ताराचंद कड़वासरा एक कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ने वाली बच्ची से मिलने आए थे। ठेहट को मारकर भाग रहे आरोपियों ने उन्हें भी गोली मार दी।

राजस्थान यूनिवर्सिटी अध्यक्ष की भी चेतावनी

राजू ठेहट की मौत के बाद लाडनू विधायक मुकेश भाकर और राजस्थान यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष निर्मल चौधरी भी मौके पर पहुंचे चुके हैं। उन्होंने भी घटना को लेकर अपनी नाराजगी जताई। कहा- जिस तरह बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया। उससे लगता है कि पुलिस का खौफ बदमाशों में खत्म हो गया है।

उन्होंने चेतावनी दी कि जब तक बदमाशों की गिरफ्तारी नहीं होगी जब तक वह शव को नहीं उठाएंगे। इसके साथ ही उनका आंदोलन जारी रहेगा। प्रशासन और जनप्रतनिधिनयों के बीच वार्ता का दौर चल रहा है। विधायक भाकर ने कहा- राजू ठेहट के परिवार को सुरक्षा मिलनी चाहिए। इसके साथ ही बदमाशों को पुलिस गिरफ्तार करें। गोलीबारी में मारे जाने वाले ताराचंद के परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी मिले।

घटना के बाद सांसद सुमेधानंद सरस्वती भी मौके पर पहुंचे और अधिकारियों से बाती। उन्होंने कहा कि सीकर के लिए यह चिंता का विषय है। सीकर एजुकेशन हब के लिए जाना जाता है। वहां पर इस तरह आपराधिक घटनाक्रम होना काफी चिंताजनक है।

सांसद ने कहा कि दो महीने पहले एक बच्चे का अपहरण हुआ था। उसके बाद भी पुलिस प्रशासन मौन बनकर बैठा है। यह काफी सोचने वाली बात है। उन्होंने कहा कि घटना के बाद तीन तहसील धौद, फतेहपुर और लक्ष्मणगढ़ में होने वाली जनआक्रोश रैली को स्थगित कर दिया है। इसके साथ ही सुबह 10 बजे पार्टी कार्यालय में पदाधिकारियों की मीटिंग बुलाई गई है। जिसमें परिवार को न्याय दिलाने और कानून व्यवस्था को ठीक करने की बात की जाएगी।

ठेहट हत्याकांड, सीकर बंद की तैयारी:राजू और किसान ताराचंद के शव लेने से इनकार; कनाडा में हुई मर्डर की प्लानिंग कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट को बदमाशों ने शनिवार को उसी के घर के सामने ताबड़तोड़ फायरिंग कर मौत के घाट उतार दिया। इस घटना के बाद शेखावाटी के जिलों में तनाव का माहौल है। विशेषकर सीकर में ठेहट के समाज के लोग सीकर बंद करने की तैयारी में है।

वहीं, घटना के करीब 22 घंटे बीतने के बाद बाद भी राजू ठेहट और गैंगवार में मारे गए बेकसूर किसान की बॉडी अब तक हॉस्पिटल में है।

समाज के नेताओं ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी है कि जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती तब तक शव नहीं लिए जाएंगे। इससे पहले शनिवार रात भर बड़ी संख्या में समाज के लोग एसके हॉस्पिटल के बाहर धरने पर बैठे रहे।

रातभर मॉर्च्युरी के बाहर लोग अलग-अलग मांगों को लेकर प्रदर्शन करते रहे। सीकर में फिलहाल शांति है, लेकिन किसी भी तनाव से निपटने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है। रातभर मॉर्च्युरी के बाहर लोग अलग-अलग मांगों को लेकर प्रदर्शन करते रहे। सीकर में फिलहाल शांति है, लेकिन किसी भी तनाव से निपटने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

जानकारी के अनुसार आज समाज के प्रतिनिधि कोचिंग संस्थान और स्कूल संचालकों के साथ मीटिंग करेंगे। इसमें यह निर्णय होगा कि अपराधियों जब तक गिरफ्तार नहीं हो जाते। तब तक स्कूल और कोचिंग पूरी तरह से बंद रहेंगे। वहीं दूसरी तरफ पुलिस लगातार बदमाशों की तलाश कर रही है।

लेकिन अभी तक बदमाश पुलिस की पकड़ में नहीं आए। इस हत्याकांड की जिम्मेदारी लेने वाले गैंगस्टर रोहित गोदारा की दो पोस्ट को लेकर भी काफी चर्चा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार गोदारा फिलहाल कनाडा में है और पूरी प्लानिंग वहीं की गई थी।

नागौर के दोतीणा के रहने वाले ताराचंद कड़वासरा एक कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ने वाली बच्ची से मिलने आए थे। ठेहट को मारकर भाग रहे आरोपियों ने उन्हें भी गोली मार दी। नागौर के दोतीणा के रहने वाले ताराचंद कड़वासरा एक कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ने वाली बच्ची से मिलने आए थे। ठेहट को मारकर भाग रहे आरोपियों ने उन्हें भी गोली मार दी।

राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (DGP) उमेश मिश्रा ने बताया कि इस फायरिंग का एक बदमाश ने वीडियो भी बनाया। इधर, लॉरेंस विश्नोई गैंग के गैंगस्टर रोहित गोदारा ने इसकी जिम्मेदारी ली है। हत्याकांड में 5 शार्प शूटर शामिल थे। इनमें से पुलिस ने चार की पहचान कर है।