रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में फिर लगी आग, इतने रुपए बढ़कर…..

बीकानेर

राजस्थान में घरेलू सिलेंडर अब 838 की जगह 863 रुपए में मिलेगा, 2021 में छठी बार कीमतों में बढ़ोतरी।

देश में महंगाई की मार झेल रहे आमजन के लिए बुरी खबर है। पेट्रोलियम कंपनियों (IOCL, HPCL, BPCL) ने आज घरेलू रसोई गैस की कीमतों में 25 रुपए प्रति सिलेंडर का इजाफा कर दिया है। कंपनियों के इस फैसले के बाद आज से रसोई गैस 838.50 रुपए की जगह 863.50 रुपए में मिलेगी। साल 2021 के शुरूआत से लेकर अब तक रसोई गैस की कीमतों में यह छठी बार बढ़ोतरी की है।

इससे पहले एक जुलाई को भी कंपनियों ने रसोई गैस की कीमतों में 25.50 रुपए प्रति सिलेंडर बढ़ाए थे। कोरोना के इस दौर में जहां एक तरफ लोगों के रोजगार ठप पड़े हैं, नौकरियों पर संकट है, ऐसी स्थितियों में पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस, बिजली के बिल, खाद्य पदार्थ (कुकिंग ऑयल, आटा, दाल, दूध) इत्यादि वस्तुओं की कीमतें लगातार बढ़ रही है, जिससे निम्न और मध्यम तबके के लोगों के लिए परेशानी खड़ी हो गई है।

केन्द्र सरकार ने अप्रैल 2020 में लॉकडाउन लगने के बाद रसोई गैस पर दी जाने वाली सब्सिडी को भी घोषित तौर पर बंद कर दिया है। अप्रैल 2020 तक लोगों को रसोई गैस पर 147 रुपए की सब्सिडी मिलती थी, लेकिन मई 2020 के बाद से अब तक एक रुपए की भी सब्सिडी नहीं दी जा रही। मई 2020 से लेकर आज तक साढे़ 15 महीने के अंदर 306 रुपए प्रति सिलेंडर तक बढ़ गए हैं।
कमर्शियल गैस की कीमतों में की थी 17 दिन पहले बढ़ोतरी
इससे पहले कंपनियों ने एक अगस्त से वाणिज्यिक उपयोग के गैस सिलेंडर की कीमतें भी बढ़ाई थी। 19 किलो केo कमर्शियल उपयोग के सिलेंडर की कीमत में 72.50 का इजाफा किया था, जिसके बाद कमर्शियल सिलेंडर 1644.50 में बिक रहा है। वहीं इससे पहले एक जुलाई को भी कमर्शियल सिलेंडर पर 84 रुपए बढ़ाए थे।

LPG डिस्ट्रीब्यूटर फेडरेशन ऑफ राजस्थान के महासचिव कार्तिकेय गौड़ ने बताया कि गैस की बढ़ती कीमतों के कारण बिक्री पर 30 फीसदी का असर पड़ा है। जिसमें ग्रामीण इलाकों में सबसे ज्यादा असर पड़ा है।