पत्नी का अबॉर्शन करवाया तो पति ने सुसाइड किया: आटा-साटा में हुई थी शादी, आरोप- दो भाइयों की शादी के लिए मां-बाप बेटी को ले गए…..

नागौर पुलिस कार्रवाई राजस्थान राज्य

पत्नी का अबॉर्शन करवाया तो पति ने सुसाइड किया: आटा-साटा में हुई थी शादी, आरोप- दो भाइयों की शादी के लिए मां-बाप बेटी को ले गए…..

पत्नी का अबॉर्शन करवाया

पति ने किया सुसाइड

पुलिस कार्रवाई

नागौर, @Dainikkhabraan। आटा-साटा कुप्रथा ने एक 21 साल के युवक की जिंदगी ले ली। युवक पिता बनने वाला था। जब उसे पता चला कि पीहर पक्ष के लोगों ने पत्नी का अबॉर्शन करवा दिया तो थाने पहुंचा। यहां कार्रवाई की मांग करने लगा, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। आखिरकार सोमवार को परेशान होकर फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। मामला नागौर के सदर इलाके का है।

सदर थाने के रायधनु गांव के रहने वाले डूंगाराम ने बताया कि उसकी बहन सुशीला (25) और छोटे भाई रामनिवास की 6 साल पहले आटा-साटा में शादी हुई थी। रामनिवास की गुड्‌डी (19) से और सुशीला की शादी गुड्‌डी के चाचा से हुई थी। रामनिवास और गुड्डी शादी के समय नाबालिग थे। ऐसे में लड़की का मुकलावा (लड़की को पीहर से ससुराल लाने की परंपरा) नहीं हुआ था। सुशीला ससुराल चली गई थी।

डूंगाराम ने बताया कि जब गुड्‌डी को ससुराल भेजने की बात हुई तो उसके घरवाले आनाकानी करने लगे। उन्होंने बताया कि गुड्‌डी के दो भाई कुंवारे हैं तो उसके घरवाले उसकी शादी कहीं ओर कर दो भाइयों की शादी करवाना चाहते हैं।
गुड्‌डी और रामनिवास लगातार कॉन्टैक्ट में थे। गुड्‌डी के घरवालों ने मना कर दिया तो दोनों ने 19 सितंबर 2021 को शादी कर ली और साथ रहने लग गए। 31 मार्च को गुड्‌डी की मां भंवरी देवी कुछ लोगों के साथ आई और दो भाइयों की शादी का हवाला देकर गुड्‌डी को ले गई।
डूंगाराम ने कहा- जब रामनिवास को पता चला कि उसकी पत्नी का अबॉर्शन करवा दिया है तो थाने गया। कार्रवाई नहीं हुई तो सोमवार को उसने घर में ही फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया।

पत्नी को बेचने का आरोप

रामनिवास को जब पता चला कि गुड्‌डी को पीहर वाले जबरन घर ले गए तो वह थाने पहुंचा। 2 अप्रैल को पुलिस में रिपोर्ट भी दी थी। इस रिपोर्ट में बताया था कि पीहर पक्ष के लोग उसकी पत्नी की रुपए के लालच में दूसरी शादी करवाकर बेचना चाहते हैं। रिपोर्ट में यह भी आरोप लगाए थे कि गुड्‌डी को जब ले जाने लगे तो उसके मां-बाप ने रोकने की भी कोशिश की। इस पर गुड्‌डी की मां और उसके साथ आए दूसरे लोगों ने मारपीट भी की।

बहन से बात की तो पंचायत बुलाने को कहा

रामनिवास ने परेशान होकर अपनी बहन सुशीला को फोन किया और पूरी बात बताई। बहन ने उसे मुकदमेबाजी के बजाय इस मामले को समाज में उठाने को कहा। समाज के लोगों के साथ आकर पंचायत में मामले को सुलझाने का सुझाव दिया। पंचायत के डर से गुड्‌डी की मां ने दो दिन बाद उसे रामनिवास के घर छोड़ देने की बात कही।

एक अप्रैल को करवा दिया अबॉर्शन

आरोप है कि 1 अप्रैल की रात मां भंवरी देवी और परिजन गुड्‌डी को नागौर किसी हॉस्पिटल में ले गए और वहां अबॉर्शन करवा दिया। 2 अप्रैल को रामनिवास को ये बात उसकी बहन सुशीला ने बताई। इससे वो दुखी हो गया। परेशान होकर थाने पहुंचा। SHO के सामने गुहार की। जब सुनवाई नहीं हुई तो फंदे से लटक कर जान दे दी।

पुलिस मामले की जांच कर रही है
नागौर CO विनोद कुमार सीपा ने बताया कि युवक ने सदर थाने में शिकायत दी थी। परिवाद दर्ज कर लिया था। आटा-साटा का मामला है। पुलिस मामले की जांच कर रही थी, इस बीच युवक ने सुसाइड कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।